Hindi News

2 साल बाद मिली PAK पत्रकार, भारतीय की मदद का आरोप!

0

पाकिस्तान में 2 सालों से गुम एक महिला पत्रकार को सुरक्षा बलों ने ढूंढ निकाला है. रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी सुरक्षा बल एक कथित भारतीय जासूस को तलाश रहे थे, उसी दौरान जीनत शहजादी मिल गई. आपको बता दें कि जासूसी के आरोप में कई भारतीयों को पाकिस्तान की जेल में रखा गया है.

img 4 555 102117101258 2 साल बाद मिली PAK पत्रकार, भारतीय की मदद का आरोप!

शहजादी अगस्त 2015 में लाहौर से गायब हो गई थी. पाकिस्तान के मिसिंग पर्सन कमिशन के प्रमुख जस्टिस (रिटायर्ड) जावेद इकबाल ने कहा है कि बलूचिस्तान और खैबर पखतुन्खवा के सूत्रों ने पाक-अफगानिस्तान के बॉर्डर से शहजादी की रिकवरी में प्रमुख भूमिका अदा की है.

img 2 555 102117101258 2 साल बाद मिली PAK पत्रकार, भारतीय की मदद का आरोप!

हालांकि, शहजादी इतने दिन कहां थी और उसे किसने किडनैप किया था, इसके बारे में जानकारी नहीं दी गई है. शहजादी के परिवार और ह्यूमन राइट ऑर्गेनाइजेशन का मानना था कि शहजादी को पाकिस्तान की ही सीक्रेट एजेंसी ने किडनैप किया है.

img 3 555 102117101258 2 साल बाद मिली PAK पत्रकार, भारतीय की मदद का आरोप!

25 साल की शहजादी बतौर फ्रीलांस रिपोर्टर काम कर रही थी. वह पाकिस्तान में मिसिंग लोगों के ऊपर रिपोर्टिंग करती थी. भारत के हामिद अंसारी जो कि पाकिस्ताम में गुम हो गए, उसकी मां फौजिया अंसारी से सोशल मीडिया के जरिए शहजादी ने संपर्क किया था.

img 5 555 102117101258 2 साल बाद मिली PAK पत्रकार, भारतीय की मदद का आरोप!

शहजादी ने फौजिया अंसारी की ओर से पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट के ह्यूमन राइट सेल में याचिका दायर की थी और सरकार को उसके मामले में जांच शुरू करने के लिए दबाव बनवाया था.