Hindi News

भोपाल गैंगरेप: पीड़िता ने बताई रोंगटे खड़े कर देने वाली 4 घंटे की दास्ताँ,फूटेगी गुस्से की ज्वाला

0

भोपाल: भोपाल गैंग रेप की घटना ने पुरे देश को एक बार फिर हिला कर रख दिया है। पीड़िता ने बड़ी बहादुरी से उस घटना के बारे में बताया। शक्ति ने आखिर तक हार नहीं मानी और चार दरिंदों से चार घंटे तक लड़ती रही। शक्ति उस पीड़िता को नई दुनिया ने नाम दिया है। शक्ति 31 अक्टूबर की की शाम भोपाल के हबीबगंज स्टेशन पर चार दरिंदों का शिकार बनी। दरिंदों ने हैवानियत की हदें पार करते हुए उसके साथ 6 बार अश्लील हरकत की।

शक्ति ने खुद ही आरोपी को पकड़कर किया पुलिस के हवाले:

%name भोपाल गैंगरेप: पीड़िता ने बताई रोंगटे खड़े कर देने वाली 4 घंटे की दास्ताँ,फूटेगी गुस्से की ज्वाला

शक्ति ने इन चार घंटों के दौरान अपना होश नहीं खोया और पुलिस को सबकुछ बता दिया। बाद में शक्ति ने खुद ही आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले भी कर दिया। शक्ति की कहानी ने बहादुरी की मिशाल पेश की है। जीवन की किसी भी परिस्थिति में हिम्मत ना हारने का सबक मिलता है। शक्ति ने पुलिस स्टेशन में उन चार घंटों के बारे में बयान दिया है। शक्ति ने जो भी पुलिस को बताया वो इस तरह है।

मैं पटरियों के बीच चलते हुए आगे बढ़ने लगी:

Bhoapl Gangerape Case 4 11 17 2 भोपाल गैंगरेप: पीड़िता ने बताई रोंगटे खड़े कर देने वाली 4 घंटे की दास्ताँ,फूटेगी गुस्से की ज्वाला

‘मैं कक्षा 12 वीं पास कर चुकी हूं, अभी भोपाल में यूपीएससी की कोचिंग कर रही हूं। 31 अक्टूबर को अपनी कोचिंग से शाम सात बजे एमपी नगर से रेल लाइन होते हुए हबीबगंज स्टेशन जा रही थी, तभी आउटर सिंग्नल से चालीस-पचास मीटर हबीबगंज स्टेशन की तरफ आई तो एक लड़का जो पटरियों के पास ही खड़ा था, मैं पटरियों की बीच से चलते हुए आगे बढ़ने लगी तो वह पटरियों के बीच में मेरे सामने खड़ा हो गया, मेरा हाथ पकड़ लिया। मैंने अपना हाथ छुड़ाने के लिए उसे एक लात मारी तो वह मेरे साथ पटरियों के बीच में ही जबरदस्ती करने लगा।

पटरी के बगल में नाले की तरफ खींच लिया:

Bhoapl Gangerape Case 4 11 17 2 भोपाल गैंगरेप: पीड़िता ने बताई रोंगटे खड़े कर देने वाली 4 घंटे की दास्ताँ,फूटेगी गुस्से की ज्वाला

वह लड़का छोटे कद का था और उसकी छोटी दाढ़ी थी तभी उसने अमर घंटू आवाज देकर अपने एक दोस्त को बुलाया। बुलाने पर उसका दोस्त गोलू बिहारी मैं आ रहा हूं बोलते हुए दौड़कर वहां आ गया, यह थोड़ा लंबा सा था। उसके बाद उन्होंने मुझे पटरी के बगल में नाले की तरफ खींच लिया तो नाले में जहां कचरा पड़ा था वहां पर मुझे उन दोनों लड़कों ने नाले के नीचे गिरा दिया। वो मुझे घसीट कर पुलिया के अंदर ले गए फिर मैंने उन्हें पत्थर उठा कर मारा तो एक लड़का जो थोड़ा लंबा सा था, उसने मुझे पीठ पर पत्थर से बुरी तरह से मारा उसके बाद उन लोगों ने मेरे दोनों हाथ बांधे और दोनों ने बारी-बारी से बुरा काम किया।

बाद में मुझे छोड़कर चले गए:

इसके बाद अमरघंटू नाम का लड़का मुझे वहीं पकड़े बैठा रहा और एक दूसरा लड़का गोलू बिहारी वो कपड़ा लाने का बोलकर चला गया। करीब 10-15 मिनट बाद वो लड़का कपड़ा लेकर आया उसने मुझे कपड़े पहनने को दिए। वो पुलिया की दूसरी तरफ लेकर गए जहां उनके साथ वाले दो व्यक्ति थे। उन लोगों ने भी मेरे साथ गंदा काम किया। उन्होंने करीब दो-तीन घंटे रोककर रखा बाद में जो आए थे चले गए। उसके बाद पहले वाले दो लड़के अमरघंटू और गोलू बिहारी ने मेरे साथ फिर से गलत काम किया और उन्होंने मेरा मोबाइल फोन और मेरे कानों की सोने की बाली और मेरी घड़ी भी ले ली। फिर वे मुझे छोड़कर चले गए। उसके बाद में मैं पांस के आरपीएफ थाना हबीबगंज गई और वहां से अपने पिताजी को फोन किया।’

 

यह भी देखे-

अर्शी खान ने टच किया आकाश ददलानी का प्राइवेट पार्ट…
मां-बेटी ने एक साथ दिया बच्चे को जन्म- हैरान हो गए सभी लोग…
ये शख्स भिड़ गया 23 फिट लंबे अजगर से और उसके बाद जो हुआ…
हिंदुस्तान ‘हिंदू राष्ट्र’, यहां रहने वाला हर कोई हिंदू : भागवत